अरविंद केजरीवाल की बेटी ऑनलाइन बेच रही थीं सोफा, OLX पर हो गई 34 हजार रुपए की ठगी

0
71

वक्त बदला, तौर तरीके बदले और बदलते दौर में इंडिया डिजिटल हो रहा है, तो फ्रॉड भी ऑनलाइन खूब हो रहा है. ऑनलाइन फ्रॉड के चक्कर में अक्सर कोई ना कोई शिकार हो ही जाता है. ताजा मामला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता का है, जो ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो गई है. उनसे एक व्यक्ति ने 34,000 रुपए की ठगी की है. दरअसल, हर्षिता एक पुराने सोफे को ऑनलाइन बेच रही थीं. हर्षिका ने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म OLX पर सोफा की बिक्री के लिए सूचनाएं दी थी और उस व्यक्ति ने खुद को खरीदार बताकर उनके साथ ठगी की. पुलिस ने सोमवार को बताया कि रविवार को पुलिस को सूचना मिलने के बाद सिविल लाइंस थाना में एक प्राथमिकी दर्ज की गई.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक मुख्यमंत्री की बेटी ने एक सोफा की ब्रिक्री के लिए सूचनाएं ई-कॉमर्स साइट OLX पर दी थी. एक व्यक्ति ने खरीदारी में रुचि दिखाते हुए उनसे संपर्क किया. अकाउंट सही होने के नाम पर उसने हर्षिता के खाते में छोटी रकम ट्रांसफर की. इसके बाद व्यक्ति ने उनको एक क्यूआर कोड भेजा और उनसे स्कैन करने को कहा ताकि तय रकम उनके खाते में ट्रांसफर कर दी जाए. लेकिन, ऐसा करने पर हर्षिता के खाते से 20,000 रुपये कट गए.

इसके बाद जब हर्षिता ने व्यक्ति से इसकी शिकायत की तो उसने कहा कि गलती से ऐसा हुआ. फिर से ऐसी ही प्रक्रिया करने पर हर्षिता के खाते से 14,000 रुपये कट गए. पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘मिली शिकायत के आधार पर हमने आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की है. जांच शुरू की गई है और हम आरोपी का पता लगा रहे हैं.

यह मामला मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ही नहीं बल्कि ऑनलाइन ठगी का शिकार लाखों लोगों का है जो हर रोज किसी ना किसी लॉनलाइन फ्रॉड का शिकार हो रहे है. भारत में सबसे ज्यादा ऑनलाइन ठगी के तीन मामले सामने आते है पहला वर्क फ्रॉम होम, दूसरा लॉटरी और तीसरा नकली बैंक ई-मेल से ठगी. एक आकड़े के मुताबिक भारत में ऑनलाइन ठगी की वजह से हर शख्स को करीब लाखों का हर साल नुकसान होता है. भारत में इंटरनेट का तेजी से अपना पावं परार रहा है उतनी ही तेजी से यहां पर ठग भी नए-नए शातिराना तरीकों से ग्राहकों को चूना लगा रहे हैं. बस ग्राहकों जागरुक होने की जरुरत है कि ऑनलाइन शापिंग करते वक्त सतर्क रहें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here